Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

नागरिक चार्टर

रेलगाड़ियां तथा समय

यात्री सेवाएं / भाड़ा जानकारी

सार्वजनिक सूचना

निविदाएं

हमसे संपर्क करें

हमारे बारे में
   मंडल
      गुंतकल
         विभाग
            लेखा


 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
लेखा



 

                                                                                                                                                                             Back


  
                                                                            Organization Structure

 
 Sl.NO.  NAME OF THE OFFICER  DESIGNATION  MOBILE NUMBER
   1   Sri. K.PRADEEP BABU   Sr.DFM  97013 74100
   2   Sri. B.GOPAL NAIK   ADFM  97013 74102
   3   Sri. M V S RAVI KUMAR   ADFM  97013 74103
   4   Sri. G SADANAND   ADFM  

                                   











        गुंतकल मंडल  

दक्षिण मध्य रेलवे रेल यात्रा को सुखद और सुविधाजनक बनाने में विश्वास रखता है. रेलवे में लेखा व वित्त विभाग इसे किफायती बनाने में यह विश्वास करता है कि फिजूलखर्च को रोकते हुए अर्जित धन कुशलता से खर्च किया जाए.

10 अक्तूबर, 1956 को दक्षिण रेलवे के भाग के रूप में गुंतकल मंडल का गठन किया गया और 2 अक्तूबर, 1977 को दक्षिण मध्य रेलवे को अंतरित किया गया.  इसकी भौगोलिक स्थिति के कारण यह उत्तर व दक्षिण और पूर्व व पश्चिम के बीच एक कडी के रूप में भारतीय रेल पर स्वर्णिम चतुर्भुज के एक भाग में मुंबई-चेन्नै मार्ग में महत्वपूर्ण लिंक बनता है. यह मंडल तिरुपति के भगवान श्री वेंकटेश्वर के विश्व प्रसिद्ध मंदिर के अलावा गुंतकल, मंत्रालयम, पुट्टपर्ती आदि पर अन्य प्रसिद्ध मंदिरों व पवित्र स्थलों इत्यादि के लिए निवास स्थान है. यह क्षेत्र लौह अयस्क, सीमेंट की गुणवत्ता वाली चूना पत्थर और बेराइट्स की ढेरों से सुसंपन्न है. यह मंडल आन्ध्रप्रदेश, कर्नाटक एवं तमिलनाडु राज्यों में फैला हुआ है.

गुंतकल मंडल प्रतिबद्धता और जिम्मेदारी में विश्वास रखता है और पिछली उपलब्धियों की आड़ में संतुष्ट नहीं रहता है. हम मानकों को पार कर सफलता के नए कीर्तिमान हासिल करने में विश्वास रखते हैं. समय के इस काल चक्र में आगे बढने के लिए हम प्रत्येक मोड पर सीखने के लिए तैयार रहना है.

लेखा विभाग

लेखा विभाग एक सेवा विभाग है. यह अन्य विभागों के साथ कुशल लेखांकन, कर्मचारियों, आपूर्तिकर्ताओं, ठेकेदारों और अन्य को समय पर भुगतान करने की व्यवस्था करना, वित्तीय लेनदेन की आंतरिक जांच, वित्त प्रस्ताव, निविदा की समीक्षा आदि, प्रक्रियाओं की पवित्रता का बचाव, बजट एवं राजस्व के साथ योजना शीर्ष व्यय का नियंत्रण करना तथा लेखा परीक्षा एवं कार्यकारी विभागों के साथ समन्वय कर नियम और कार्य पद्धति के अनुसार प्रणाली/ठेका प्रबंधन/मूल रिकार्ड/लेखा बही का रख-रखाव में सुधार करने की भूमिका निभाता है.

गुंतकल मंडल, लेखा विभाग के प्रमुख वरि.मंडल वित्त प्रबंधक हैएवं 03 सहायक मंडल वित्त प्रबंधक, 17वरि.सेक्शन अधिकारी, 52लिपिकीय कर्मचारी और 08ग्रुप डी कर्मचारी हैं. अधिकारियों एवं कर्मचारियों सहित कुल संख्या 81 है.

चालू वित्तीय वर्ष 2023 - 24 में कार्यनिष्पादन विशेषताएं

(अप्रैल  - 2023 से मार्च - 2024)

           कार्यनिष्पादन सूचकांक:

मार्च - 2024 के अंत तक कार्यनिष्पादन दक्षता सूचकांक 102.68% रहा, जबकि मार्च - 2023 के अंत तक यह 109.33% था.

vराजस्व व्यय :

वित्त वर्ष 2023 - 24 के लिए, 2096.17 करोड रुपए के (आरजी) पर, 2096.17 करोड रुपए के बजट अनुपात के प्रति मार्च,2024 के अंत तक वास्तविक व्यय रु.2072.67 करोड़ है.

वित्त निष्पादन (राजस्व व्यय)                                                                               (रु. करोडों में)

मांग

तक वास्तविक व्यय

एसएल (बीजी)

एसएलटीई मार्च -24 पर बीपी

मार्च -24 का अनुमानित टीई

अंतर

मार्च -22

मार्च -23

2023-24

(एसएल पर अनुमानित बीपी)

 (अनुमानित  -22-24)

 (अनुमानित  -23-24)

3A

48.5599

52.0290

60.1303

60.1303

59.4682

-0.6621

10.9083

7.439

4B

248.1875

301.0350

331.0024

331.0024

335.1849

4.1825

86.9974

34.150

5C

149.5698

166.8212

146.1005

146.1005

155.8745

9.7740

6.3047

-10.947

6D

95.5157

105.9122

117.9432

117.9432

124.5256

6.5824

29.0099

18.613

7E

89.3340

108.8765

142.9371

142.9371

116.2922

-26.6449

26.9582

7.416

8F

239.8938

304.3078

323.2019

323.2019

328.8577

5.6558

88.9639

24.550

9G

248.2335

269.8377

306.2573

306.2573

311.9363

5.6790

63.7028

42.099

10H

273.7842

527.2209

437.7924

437.7924

418.6670

-19.1254

144.8828

-108.554

11J

90.5660

86.8503

103.9818

103.9818

95.1614

-8.8204

4.5954

8.311

12K

45.2554

43.5485

46.7917

46.7917

42.9345

-3.8572

-2.3209

-0.614

13L

64.8058

75.8835

80.0319

80.0319

83.7731

3.7412

18.9673

7.890

कुल

1593.7056

2042.3226

2096.1705

2096.1705

2072.6754

-23.4951

478.9698

30.353

योजना शीर्ष व्यय:

इस मंडल पर 16  योजना शीर्ष (पीएच) संचालित हैं.  मार्च, 2024 के अंत तक वास्तविक व्यय 433.02 करोड़ रुपये है, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 370.69 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे. वर्ष 2023-24 के लिए 492.77 करोड़ रुपये के आर.जी को ध्यान में रखते हुए सभी योजना शीर्षों के लिए व्यय की निगरानी की जाती है.  वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल योजना शीर्ष व्यय 370.69 करोड रुपए है.

लेखा शीर्ष

वास्तविक 2022-23

वास्तविक मार्च -22 तक

वास्तविक मार्च -23 तक

बीजी2023-24

  मार्च - 24 के लिए वास्तविक व्यय

मार्च -24 अंत तक वास्तविक व्यय

अंतर             (22-24)

अंतर             (23-24)

16 टीएफसी सुविधाएं

2.8791

13.0768

2.8791

12.3923

2.3882

10.5673

-2.5095

7.6882

21 आरएसपी

0.0000

0.0000

0.0000

5.2615

1.0691

3.8983

3.8983

3.8983

29आर.एस.डब्ल्यु(एलसी)

8.8752

2.1347

8.8752

3.8451

0.3027

4.6819

2.5472

-4.1933

30 आर.एस.डब्ल्यु (आरओबी/आरयुबी)

59.4864

61.4485

59.4864

124.6101

21.3104

119.4779

58.0294

59.9915

31 ट्रैक नवीकरण

257.2047

213.9463

257.2047

212.6027

23.6772

183.1034

-30.8429

-74.1013

32 पुल कार्य

11.5726

26.5574

11.5726

13.2095

0.0951

15.4445

-11.1129

3.8719

33 सिवदूसं कार्य

2.5566

1.3645

2.5566

2.2189

0.0373

1.6043

0.2398

-0.9523

36 अन्य विद्युत कार्य

6.2245

2.7973

6.2245

15.7061

2.2964

12.8863

10.0890

6.6618

37 कर्षण वितरण कार्य

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

41 यंत्र व संयंत्र

1.1714

4.2242

1.1714

6.8643

0.0185

7.4481

4.7754

7.8282

42 कारखाना

0.9218

0.3088

0.9218

15.1853

0.0459

8.9996

1.9584

1.3454

51 कर्मचारी क्वार्टर

5.1785

2.8717

5.1785

4.1452

0.0030

2.2672

-2.8717

-5.1785

52 कर्मचारी सुविधाएं

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

53 पास सुविधाएं

12.6740

19.8371

12.6740

67.7953

29.5367

57.9729

38.1358

45.2989

64 अन्य निर्धारित कार्य

1.9446

0.3566

1.9446

8.7857

0.0260

4.5398

4.1832

2.5952

65 एचआरडी

0.0000

0.0021

0.0000

0.1500

0.0000

0.1261

0.1240

0.1261

अन्य

370.6894

348.9260

370.6894

492.7720

80.8065

433.0176

76.6435

54.8801

अर्जन:

वरि.मंवाप्र/गुंतकल के परामर्श के अनुसार, मंडल के मार्च - 24माह के लिए और माह के अंत तक अर्जन इस प्रकार है.  वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल आय 1868.09 करोड़ रुपये रहा.

अवधि

पास अर्जन

माल अर्जन

अन्य कोचिंग

फुटकर अर्जन

कुल

माह के लिए

83.90

82.47

6.33

13.21

185.91

माह के अंत तक

933.53

764.44

90.72

43.93

1832.62

मार्च - 2023 की अपेक्षा मार्च - 2024 माह के लिए मूल अर्जन 6.38 करोड़ रुपये अधिक है.

मार्च - 2023 के अंत तक मार्च - 2024 माह के लिए मूल अर्जन 150.44 करोड़ रुपये अधिक है.

vवसूली योग्य बिल :

अप्रैल, 2023 से मार्च, 2024 की अवधि के दौरान, 01.04.2023 को प्रारंभिक शेष राशि 2.77 करोड़ रुपये है, 14.81 करोड़ रुपये के बिल बनाए गए हैं और 13.22 करोड़ रुपये की वसूली हुई है.  मार्च,2024के अंत तक वसूल किए जाने वाले बिलों का अंतिम शेष 4.37 करोड़ रुपये है. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल वसूली योग्य बिल 15.10 करोड़ रुपये था.

31.03.2024को अंत शेष राशि का विवरण(आंकडे000’में)

वर्ष

2009-10

2014-15

2015-16

2016-17

2017-18

2018-19

2019-20

2020-21

2021-22

2022-23

2023-24

कुल

राशि

476

1

2

9

1988

234

17

10

5375

26

35561

43699

vलेखा परीक्षा :

      01.04.2023 को लेखा परीक्षा आपत्तियों का प्रारंभिक शेष 40 (3विशेष एलटीआरएस, 15एआईआर और22एएन)है.  अप्रैल 2023 से मार्च, 2024 के दौरान 11 (Pt.I AIRs-06, Pt.I ANs-04 & Spl.Ltr.-01)  की वृद्धि और क्लियरेंस 04(Pt.I AIRs-00, Pt.I ANs-02 and Spl. Ltrs.,-02) का हुआ है और मार्च 2024 को समाप्त अंत शेष 49 रिपोर्ट रहा जिसमें 02 स्पेशल लेटर्स, 21 पार्ट – I एआईआर और 26 पार्ट – I लेखा परीक्षा टिप्पणियां शामिल हैं. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल 43 (Pt.I AIRs-35, Pt.I ANs-7 and Spl. Ltrs.-1)लेखा परीक्षा आपत्तियों को क्लियर किया गया.

vबचत :

      अप्रैल, 2023 से मार्च, 2024 तक आंतरिक जांच के दौरान 29.59 करोड रुपए की राशि बचत की गई है. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल बचत 8.86 लाख रुपये रहा.

vसमापन रिपोर्ट:

      सभी कार्यों को पूर्ण करने के बाद समापन रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए चलाए गए विशेष अभियान द्वारा, अप्रैल, 2023 से मार्च,2024 की अवधि के दौरान 81 समापन रिपोर्ट तैयार किये गये जिससे प्राक्कलित व्यय से अधिक खर्च 0.45 करोड रुपए का विनियमन किया गया. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल समापन रिपोर्ट 03 रहा.

v पेंशन

ओ.एन.आर मामलों (मृत्यु, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति एवं लार्सजेस मामलों) के निपटारे में विशेष ध्यान देने के कारण अप्रैल, 2023 से मार्च, 2024 की अवधि के दौरान 139 ओ.एन.आर मामलों के अलावा 273 सामान्य सेवानिवृत्ति मामले निपटाए गए.

· भविष्य निधि एवं नई पेंशन योजना

वर्ष 2022-23 के लिए भविष्य निधि शेष का वार्षिक मिलान पूरा हो गया है और आर.ई.एस.एस (RESS) सुविधा के कार्यान्वयन से कर्मचारियों के भविष्य निधि पासबुक को अद्यतन करना बंद कर दिया गया है.

             

मार्च -24के अंत तक, 11,289 कर्मचारी एनपीएस के दायरे में आ चुके हैं. मार्च -24महीने के लिए ईसी और जीसी अपलोड कर दिया गया है. सितंबर-08 से मार्च-24तक एनएसडीएल द्वारा 8,64,89,11,815/- रुपये की राशि अपलोड कर पुष्टि की गई है.

           रेलवे बोर्ड के दिशा-निर्देशों के अनुसार एनपीएस परिवार पेंशन मामलों के भुगतान की प्रक्रिया को क्रमबद्ध करने के लिए, एनपीएस पेंशन बिलों को पारित किया जा रहा है और एनपीएस परिवार पेंशन के भुगतान को विधिवत् रूप से विकेंद्रीकृत करते हुए भुगतान की व्यवस्था यूनिट स्तर पर की जा रही है. इस यूनिट द्वारा मार्च, 2024 की अवधि के लिए 215पेंशनभोगियों के लिए 42,69,339/- रुपये की राशि की व्यवस्था की गई है.

            स्टॉक शीट :

अप्रैल, 23 से मार्च, 24 की अवधि के दौरान 42 स्टॉक शीट बंद कर दिये गये हैं.  ताजा वृद्धि के कारण मार्च - 24 के अंत तक स्टॉक शीटों का समापन शेष 07 है.  वित्त वर्ष 2022-23 के अंत तक बंद किए गए स्टाक शीट 29 रहा.

* उचंत :

उचंत खाते का मिलान अद्यतन है.  आज की तारीख में, स्कूटर अग्रिम के तहत कोई बीपीपी आइटम नहीं हैं और इस मंडल में फरवरी - 24 के अंत तक कोई इनिफिशियेंट बेलंस नहीं है.

आरआईबी और चेक और बिल के तहत सभी पुराने वस्तुओं को क्लियर कर दिया गया है और आरआईबी के तहत 16 वस्तुएं बकाया शेष है, जिनमें 15, 10 दिन से कम पुराने है और 01 दस दिन से अधिक और 30 दिन से कम है. चेक और बिल के तहत जनवरी - 24 के अंत तक 16 मदें 1 माह से कम पुराने हैं और सभी मदें रोकडिया लेनदेन से संबंधित है.

बिलों की स्थिति:

अप्रैल 23 से मार्च 24 के दौरान 1930ठेकेदार बिल और 10482 आपूर्तिकर्ताओं के बिल पारित किए गए हैं.

   

मुख्य विशेषताएं:

I.अप्रैल 23 से मार्च 24 के दौरान कुल बचत 29.59 करोड़ रुपये है.

II. अप्रैल से मार्च 24 के दौरान वसूली योग्य बिलों के रूप में रु.13.22 करोड़ की वसूली की गई है, अर्थात 2,17,20,555/-रुपए बिजिली प्रभार के लिए, 59,12,361/- रुपए एलएलएफ के लिए, 37,23,159/- रुपए री-रेलिंग प्रभार के लिए, 10,46,228/-रुपए भवन किराया एवं जल प्रभार के लिए, 2,91,38,515/-रुपएकर्मचारी प्रभार के लिए, 5,30,89,391/-रुपएनिरीक्षण और रखरखाव प्रभार के लिए एवं 1,76,10,265/-रुपए अन्य रखरखाव प्रभार के लिए (समपार एवं रेसुब बंदोबस्त) है.

III.बुक्स सेक्शन में उचंत खाता बचत का मिलान अद्यतन है. आज की तारीख में, स्कूटर अग्रिम, पीसी अग्रिम के तहत कोई बीपीपी मद नहीं है और फरवरी - 24 के अंत तक कोई इनिफिशियेंट बैलेंस नहीं मिला है.

IV. ओएनआरमामलों (मृत्यु, स्वैच्छिक सेवानिवृत्तिऔर LARSGESS मामलों) के निपटान में विशेष ध्यान देने के परिणामस्वरूप, अप्रैल 23से मार्च 24की अवधि के दौरान 273 एनआर मामलों को निपटाने के अलावा 139  ओएनआर मामलों को भी क्लियर किया गया है.

 

V. अप्रैल 23से मार्च 24के दौरान 42 नग सेकंडरी परिवार पेंशन के मामलों का निपटारा किया गया.

VI. अगले 3 वर्षों में सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों की सेवापंजियां और छुट्टी लेखा अग्रिम प्रमाणन का कार्य जारी है. अप्रैल 23से मार्च 24के लिए 758सेवापंजी व छुट्टी लेखा हैं और कार्मिक शाखा के परामर्श से इनका सत्यापन किया गया.

VII. अप्रैल 23से मार्च 24के दौरान 585नग एमएसीपीएस मामले, 1627नग वेतन निर्धारण मामलें, 832स्थानांतरण मामलों और चिकित्सा प्रतिपूर्ति के 446मामलों का निपटारा किया गया.

          

       

नवाचार एवं कार्य पद्धति उन्नयन :

Øमई, 2019 माह के दौरान इस कार्यालय के सभी अनुभागों के कार्यपालकों द्वारा ई-ऑफिस के जरिए प्राप्त प्रस्ताव, बिल्स व अन्य महत्वपूर्ण पत्राचार के सक्रिय रूप से निगरानी के लिए ई-ऑफिस कार्य प्रणाली का कार्यान्वयन किया गया है और साथ ही जवाबी उत्तर भी केवल ई-ऑफिस के माध्यम से बनाए रखा गया है.