Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोजें:
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

नागरिक चार्टर

रेलगाड़ियां तथा समय

यात्री सेवाएं / भाड़ा जानकारी

सार्वजनिक सूचना

निविदाएं

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
विद्युत लोकोमोटिव

विद्युत लोकोमोटिव                                                      (दिनांक 01.09.2023 को)

उद्देश्य

Øकर्षण चल स्टॉक का उद्देश्य माल और यात्री सेवाओं के संचलन के लिए संरक्षित, विश्वसनीय और दक्ष विद्युत इंजन उपलब्ध कराना है.

हमारे बारे में

Øविद्युत विभाग का यह विंग पारंपरिक और 3 फेज़ विद्युत इंजनों के रखरखाव और मरम्मत से संबंधित है.

Øविद्युत इंजन (01.09.2023 तक)

शेड

डब्ल्यूएजी-5

डब्ल्यूएजी7

डब्ल्यूएजी9

डब्ल्यूएपी4

डब्ल्यूएपी7

कुल

विजयवाडा

42

28

78

63

28

239

लालागुडा

-

-

149

-

126

275

काजीपेट

-

57

127

-

-

184

गुत्ती (डी)

-

-

70

-

-

70

काजीपेट (डी)

-

85

-

-

-

85

गुंतकल

-

130

-

-

-

130

मौला अली

-

-

3

-

-

3

कुल

42

300

427

63

154

986



Øपिछले छह वर्षों के दौरान चालू किए गए नए इंजन

वर्ष

डब्ल्यूएपी-7

डब्ल्यूएजी-9

कुल

लालागुडा

लालागुडा

काजीपेट

विजयवाडा

मौलाअली

2017-18

18

0

21

-

-

39

2018-19

20

1

18

-

-

39

2019-20

14

32

29

-

-

75

2020-21

32

17

9

-

-

58

2021-22

4

17

50

18

-

89

2022-23

2

12

50

38

0

102

2023-24

(As on 01.09.23)

4

4

22

8

3

41


Øलोको शेड 

1.विद्युत लोको शेड,विजयवाडा (ईएलएस/विजयवाडा)

विद्युत लोको शेड,विजयवाडाका निर्माण विजयवाडा-चेन्नै रेल विद्युतीकरण परियोजना के एक हिस्से के रूप में 100 इंजनों को रखने के लिए किया गया था. इसकाक्षेत्रफल 128800 वर्ग मीटर (31.83 एकड़) है. शेड का उद्घाटन दि. 12.04.1981 को किया गया था.

https://scr.indianrailways.gov.in/view_section.jsp?fontColor=black&backgroundColor=LIGHTSTEELBLUE&lang=0&id=0,1,291,358,1061,2559  

2.विद्युत लोको शेड,लालागुडा (ईएलएस/लालागुडा)

विद्युत लोको शेड,लालागुडाका निर्माण विजयवाडा-बल्हारशाह रेल विद्युतीकरण परियोजना के एक हिस्से के रूप में 100 इंजनों को रखने के लिए डिजाइन किया गया था. इसकाक्षेत्रफल 78396 वर्ग मीटर (19.37 एकड़) है. शेड का उद्घाटन दि. 06.09.1995को किया गया था.

http://www.scr.indianrailways.gov.in//view_section.jsp?id=0,1,291,357,950,953 

3.विद्युत लोको शेड,काजीपेट (ईएलएस/काजीपेट)

काजीपेट शेड में स्थित विद्युत लोको शेड को 100 इंजनो को रखने लिए स्वीकृत किया गया था. इसकाक्षेत्रफल 85632 वर्ग मीटर (21.16 एकड़) है. माल लदान यातायात की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मुख्य शेड का उद्घाटन 01 मार्च 2008 को किया गया था.

https://scr.indianrailways.gov.in/view_section.jsp?lang=0&id=0,1,291,357,950,952

4.डीज़ल लोको शेडों में विद्युत इंजन का अनुरक्षण:

रेलवे बोर्ड के दिनांक: 17.01.17 के पत्र संख्या 2015/एम(एल)/466/1 पीटी(ए) के अंतर्गत डीजल शेडों में विद्युत इंजनों के अनुरक्षण के लिए व्यापक दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. आरडीएसओ ने टीसी सं. 138,दिनांकित 22.09.2017 जारी किया है, जिसमें आवश्यक अनुरक्षण सुविधाओं/अवसंरचना को विनिर्दिष्ट किया गया है.

उपर्युक्त के संबंध में, निम्नलिखित डीजल शेड विद्युत इंजनों का अनुरक्षण कर रहे हैं, जैसा कि नीचे उल्लेख किया गया है.

डीजल शेड

वर्तमान में उपलब्ध

से आरंभ

डीजल शेड/गंतकल

130डब्ल्यूएजी 7

दिसंबर, 2018

डीजलशेड/काजीपेट

85 डब्ल्यूएजी 7

फरवरी, 2019

डीजल शेड/गुत्ती

70डब्ल्यूएजी 9

अक्टूबर, 2018

डीजलशेड/मौलाअली

3डब्ल्यूएजी 9

अगस्त, 2023

कुल

288 इंजन

इसके अलावा, 11 डब्ल्यूएजी7 लोको को ईविजयवाजा से डीजल/गुंतकलमें और 20 डब्ल्यूएजी9 लोको को ईकाजीपेट से डीजल/गुत्ती भेजने के निर्देश जारी किए गए हैं जो 01.04.23 से प्रभावी होंगे.

Øगतिविधियां

विद्युत और डीजल लोको शेड में निम्नलिखित गतिविधियां की जाती हैं:

·छोटी अनुरक्षण अनुसूची- I, Iबीऔर Iसी  

·बड़ी अनुरक्षण अनुसूची- टीओएच और आईओएच   

·छोटे और बड़े उपकरणों की ओवरहालिंग

·विशेष मरम्मत अनुरक्षण    

मुख्य लोको शेड के अलावा, ट्रिप शेड पर भी छोटी-छोटी मरम्मत की जाती है.   

·ट्रिप शेडों में विद्युत इंजनों के लिए ट्रिप निरीक्षण/सामान्य जांच

Øनवीनतम विकास:

1.हेड ऑन जेनरेशन (एचओजी):

भारतीय रेलवे ने, पॉवर इलेक्ट्रॉनिक्स, नियंत्रण प्रणाली और पॉवर आपूर्ति प्रणालियों के क्षेत्र में तकनीकी उन्नयन और निरंतर प्रगति के साथ ही,यात्री गाड़ियों के लिए कोचों में पॉवर आपूर्ति के लिए ऊर्जा कुशल, प्रदूषण मुक्त पॉवर आपूर्ति प्रणाली अपनाने का विनिश्चय किया है, जिसे हेड ऑन जेनरेशन (एचओजी) कहा जाता है.

वर्तमान में, 72जोड़ी (36दमरे+36सीमांत रेलवे) गाड़ियों में हेड ऑन जेनरेशन (एचओजी) लगाया गया है. अब तक दमरे के 99डब्ल्यूएपी7 इंजनों में होटल लोड कन्वर्टर लगाए गए हैं. दमरे पर कुल 113एचओजी लोको उपलब्ध हैं.

2.रीयल-टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (राइट्स):

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) के सहयोग से विकसित रीयल-टाइम इंफॉर्मेशन सिस्टम (आरटीआईएस) को स्टेशनों पर गाड़ी आवाजाही के समय को स्वत: प्राप्त करने के लिए इंजनों पर लगाया जा रहा है, जिसमें आगमन और प्रस्थान या वहां से सीधे गुजरना भी शामिल हैं.

986विद्युत इंजनों में से 674(ईविजयवाडा-188, ईलालागुडा-241, ईकाजीपेट-120, गंतकल-50,डीकाजीपेट-55 औरडीएल गुत्ती-20) इंजनों में रीयल-टाइम इंफॉर्मेशन सिस्टम (आरटीआईएस) उपलब्ध किया गया है.

3.डिस्ट्रिब्यूटेड पावर वायरलेस कम्युनिकेशन सिस्टम (डीपीडब्लयूसीएस):

डिस्ट्रिब्यूटेड पॉवर (वितरित शक्ति) का तात्पर्य पूरी गाड़ी के लिए मध्यवर्ती बिंदुओं पर इंजनों के भौतिक वितरण से है. डीपीडब्लयूसीएसकी परिकल्पना आरएफसंचार के माध्यम से इंजनों के बीच युग्मन कपलिंग उपलब्ध कराने के लिए की गई है. डिस्ट्रिब्यूटेड पॉवर की अवधारणा को लंबी दूरी गाड़ियों को संचालित करने के लिए विकसित किया गया था जहां परिचालनिक संबंधी या किफायत की आवश्यकता थी.

वर्तमान में, 58 डब्ल्यूएजी-7 इंजन (विलोशे/काजीपेटे-35, डीजलशेड/काजीपेट -23) डीपीडब्लयूसीएससे सुसज्जित हैं और सफलतापूर्वक कार्य कर रहे हैं.

4.क्रू वॉयस और वीडियो रिकॉर्डिंग सिस्टम (सीवीवीआरएस):

सीवीवीआरएस लोकोमोटिव कैब की प्रभावी और टेंपरप्रूफ वीडियो और वॉयस रिकॉर्डिंग सुनिश्चित करता है तथा घटना के बाद विश्लेषण के लिए ट्रैक व्यू सुनिश्चित करता है.

दमरे के 46इंजनों (26ईविजयवाडा, 8ईकाजीपेट, 11 ईलालागुडा और 1 ईगुंतकल) में,मैसर्स कामने इलेक्ट्रॉनिक्स प्राइवेट लिमिटेड, नोएडा द्वारा आपूर्ति किए गए सीवीवीआरएस को मार्च, 2021 तक चालू कर दिया गया है.

5.गाड़ी टक्कर निवारण प्रणाली (टीसीएएस) – कवच

दमरे के 79 विद्युत इंजनों (21 डब्ल्यूएजी7, 22 डब्ल्यूएपी4 और 34 डब्ल्यूएपी7 2 डब्ल्यूएजी9) में गाड़ी टक्कर निवारण प्रणाली (टीसीएएस) उपलब्ध है.

ब्रेक प्रणाली-वार: आईआरएबी - 43 लोको, ई-70 - 37 लोको, सीसीबी -3 लोको

टीसीएएसनिर्मिति-वार: मेधा- 55लोको, एचबीएल- 12लोको, जीजीट्रॉनिक्स- 3

कर्नेक्स - 10 लोको

आबंटित

उपलब्ध कारए गए

निर्मिति

फेज़ -I – 20इंजन

फेज़ -I – 20

(काजीपेट -20 डब्ल्यूएजी 7)

मेधा-12

एचबीएल-6, कर्नेक्स-2

फेज -II – 95 लोको

आबंटित : 75 लोको

(कर्नेक्स- 8 (P4-7 & P7-1),

एचबीएल: 6 (P4-1, P7-4 & G7-1),

मेधा : 61 (P4-14 & P7-47),

आबंटन अभी बाकी हैः 20इंजन

जीजीट्रॉनिक्स:10 (पी4-2और पी7-8),

क्वाड्रंट:10 (पी4-2 और पी7-8),

58

23 (विजयवाडा –22 डब्ल्यूएपी4,

गुंतकल- 1 डब्ल्यूएजी 7)

कर्नेक्स-7(पी4- विजयवाडा),

मेधा-14 (पी4 - विजयवाडा),

एचबीएल-2 (जी7- गुंतकल, पी 4- विजयवाडा)

37 (डब्ल्यूएपी7 – 35, डब्ल्यूएजी 9)

मेधा-29

(22-लालागुडा & 7 विजयवाडा)

कर्नेक्स– 1 (लालागुडा)

एचबीएल– 4 (लालागुडा)

जीजीट्रॉनिक्स- 3(लालागुडा)

Øज्ञान बैंक

Øविद्युत इंजनों के अनुरक्षण से संबंधित सभी नवीनतम एसएमआ, एमएस और टीसी का उल्लेख नीचे दिए गए लिंक में किया गया है.

लिंक: https://rdso.indianrailways.gov.in/view_section.jsp?lang=0&id=0,4,6523,7086,7087,7091 

Øसंपर्क करें

ई-मेल:cele@scr.railnet.gov.in

dyceeloco@scr.railnet.gov.in




Source : दक्षिण मध्‍य रेलवे CMS Team Last Reviewed : 22-09-2023  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.