Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

नागरिक चार्टर

रेलगाड़ियां तथा समय

यात्री सेवाएं / भाड़ा जानकारी

सार्वजनिक सूचना

निविदाएं

हमसे संपर्क करें

हमारे बारे में
   मंडल
      गुंतकल
         विभाग
            लेखा


 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
लेखा



 

                                                                                                                                                                             Back


  
                                                                            Organization Structure

 
 Sl.NO.  NAME OF THE OFFICER  DESIGNATION  MOBILE NUMBER
   1   Sri. K.PRADEEP BABU   Sr.DFM  97013 74100
   2   Sri. B.GOPAL NAIK   ADFM  97013 74102
   3   Sri. M V S RAVI KUMAR   ADFM  97013 74103
   4   Sri. G SADANAND   ADFM  

                                   











        गुंतकल मंडल  

दक्षिण मध्य रेलवे रेल यात्रा को सुखद और सुविधाजनक बनाने में विश्वास रखता है. रेलवे में लेखा व वित्त विभाग इसे किफायती बनाने में यह विश्वास करता है कि फिजूलखर्च को रोकते हुए अर्जित धन कुशलता से खर्च किया जाए.

10 अक्तूबर, 1956 को दक्षिण रेलवे के भाग के रूप में गुंतकल मंडल का गठन किया गया और 2 अक्तूबर, 1977 को दक्षिण मध्य रेलवे को अंतरित किया गया.  इसकी भौगोलिक स्थिति के कारण यह उत्तर व दक्षिण और पूर्व व पश्चिम के बीच एक कडी के रूप में भारतीय रेल पर स्वर्णिम चतुर्भुज के एक भाग में मुंबई-चेन्नै मार्ग में महत्वपूर्ण लिंक बनता है. यह मंडल तिरुपति के भगवान श्री वेंकटेश्वर के विश्व प्रसिद्ध मंदिर के अलावा गुंतकल, मंत्रालयम, पुट्टपर्ती आदि पर अन्य प्रसिद्ध मंदिरों व पवित्र स्थलों इत्यादि के लिए निवास स्थान है. यह क्षेत्र लौह अयस्क, सीमेंट की गुणवत्ता वाली चूना पत्थर और बेराइट्स की ढेरों से सुसंपन्न है. यह मंडल आन्ध्रप्रदेश, कर्नाटक एवं तमिलनाडु राज्यों में फैला हुआ है.

गुंतकल मंडल प्रतिबद्धता और जिम्मेदारी में विश्वास रखता है और पिछली उपलब्धियों की आड़ में संतुष्ट नहीं रहता है. हम मानकों को पार कर सफलता के नए कीर्तिमान हासिल करने में विश्वास रखते हैं. समय के इस काल चक्र में आगे बढने के लिए हम प्रत्येक मोड पर सीखने के लिए तैयार रहना है.

लेखा विभाग

लेखा विभाग एक सेवा विभाग है. यह अन्य विभागों के साथ कुशल लेखांकन, कर्मचारियों, आपूर्तिकर्ताओं, ठेकेदारों और अन्य को समय पर भुगतान करने की व्यवस्था करना, वित्तीय लेनदेन की आंतरिक जांच, वित्त प्रस्ताव, निविदा की समीक्षा आदि, प्रक्रियाओं की पवित्रता का बचाव, बजट एवं राजस्व के साथ योजना शीर्ष व्यय का नियंत्रण करना तथा लेखा परीक्षा एवं कार्यकारी विभागों के साथ समन्वय कर नियम और कार्य पद्धति के अनुसार प्रणाली/ठेका प्रबंधन/मूल रिकार्ड/लेखा बही का रख-रखाव में सुधार करने की भूमिका निभाता है.

गुंतकल मंडल, लेखा विभाग के प्रमुख वरि.मंडल वित्त प्रबंधक है एवं 03 सहायक मंडल वित्त प्रबंधक, 17 वरि.सेक्शन अधिकारी, 53लिपिकीय कर्मचारी और 07 ग्रुप डी कर्मचारी हैं. अधिकारियों एवं कर्मचारियों सहित कुल संख्या 81 है.

चालू वित्तीय वर्ष 2023 - 24 में कार्यनिष्पादन विशेषताएं

(अप्रैल  - 2023 से जनवरी - 2024)

           कार्यनिष्पादन सूचकांक:

जनवरी - 2024 के अंत तक कार्यनिष्पादन दक्षता सूचकांक 104.62% रहा, जबकि जनवरी - 2023 के अंत तक यह 112.12% था.

vराजस्व व्यय :

वित्त वर्ष 2023 - 24 के लिए, 2096.17 करोड रुपए के (आरजी) पर, 1697.13 करोड रुपए के बजट अनुपात के प्रति दिसंबर ,2023 के अंत तक वास्तविक व्यय रु.1745.28 करोड़ है.

वित्त निष्पादन (राजस्व व्यय)

मांग

तक वास्तविक व्यय  

एसएल (बीजी)

एसएलटीई जनवरी -24 पर बीपी

जनवरी -24 का अनुमानित टीई

अंतर

जनवरी -22

जनवरी -23

2023-24

(एसएल पर अनुमानित बीपी)

 (अनु  -    22-24)

 (अनु  -   23-24)

3A

41.8791

44.5821

60.1303

45.7807

52.1427

6.3620

10.2636

7.561

4B

203.6178

246.2806

331.0024

272.0497

284.1284

12.0787

80.5106

37.848

5C

107.4591

135.5451

146.1005

122.7158

131.7014

8.9856

24.2423

-3.844

6D

80.0671

93.0963

117.9432

92.4822

104.9039

12.4217

24.8368

11.808

7E

75.2866

90.9041

142.9371

101.1743

98.0966

-3.0777

22.8100

7.193

8F

198.6469

248.4933

323.2019

254.3624

274.8392

20.4768

76.1923

26.346

9G

208.2798

228.0737

306.2573

225.3061

260.9844

35.6783

52.7046

32.911

10H

164.3379

458.7410

437.7924

378.0741

347.1219

-30.9522

182.7840

-111.619

11J

80.8405

78.2250

103.9818

101.2804

85.6233

-15.6571

4.7828

7.398

12K

39.5567

36.9535

46.7917

36.5527

36.2544

-0.2983

-3.3023

-0.699

13L

53.1730

63.0319

80.0319

67.3538

69.4796

2.1258

16.3066

6.448

कुल

1253.1445

1723.9266

2096.1705

1697.1322

1745.2758

48.1436

492.1313

21.349

योजना शीर्ष व्यय:

इस मंडल पर 16 योजना शीर्ष (पीएच) संचालित हैं. जनवरी, 2024 के अंत तक वास्तविक व्यय 297.54 करोड़ रुपये है, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 282.28 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे. वर्ष 2023-24 के लिए 489.16 करोड़ रुपये के आर.जी को ध्यान में रखते हुए सभी योजना शीर्षों के लिए व्यय की निगरानी की जाती है.  वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल योजना शीर्ष व्यय 370.69 करोड रुपए है.

लेखा शीर्ष

वास्तविक 2022-23

वास्तविक जनवरी -21 तक

वास्तविक जनवरी -22 तक

बीजी2023-24

  जनवरी - 23 के लिए वास्तविक व्यय  

जनवरी -23 अंत तक वास्तविक व्यय  

अंतर             (21-23)

अंतर             (22-23)

उपयोगिता प्रतिशत (बी.जी एवं व्यय

16 टीएफसी सुविधाएं

2.8791

10.4297

2.2877

12.3923

1.7938

7.6304

-2.7993

5.3427

2.8791

21 आरएसपी

0.0000

0.0000

0.0000

4.2479

0.7621

2.7832

2.7832

2.7832

0.0000

29आर.एस.डब्ल्यु(एलसी)

8.8752

1.2954

0.5625

3.8451

0.3250

3.0848

1.7894

2.5223

8.8752

30 आर.एस.डब्ल्यु (आरओबी/आरयुबी)

59.4864

40.0869

48.3456

124.6101

15.2978

76.9750

36.8881

28.6294

59.4864

31 ट्रैक नवीकरण

257.2047

139.8470

202.2685

212.6027

21.5305

140.6407

0.7937

-61.6278

257.2047

32 पुल कार्य

11.5726

20.9397

10.0967

13.2095

2.9407

14.1778

-6.7619

4.0811

11.5726

33 सिवदूसं कार्य

2.5566

1.2248

0.6325

2.2189

0.0000

1.3532

0.1284

0.7207

2.5566

36 अन्य विद्युत कार्य

6.2245

1.2256

2.1091

15.2561

1.5395

9.3010

8.0754

7.1919

6.2245

37 कर्षण वितरण कार्य

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

41 यंत्र व संयंत्र

1.1714

3.0950

0.5220

6.8643

0.1134

6.7438

4.0881

6.6611

1.1714

42 कारखाना

0.9218

0.1865

0.1585

15.1853

0.7115

7.1831

1.9003

1.9283

0.9218

51 कर्मचारी क्वार्टर

5.1785

1.9498

4.7468

4.1452

0.0016

2.0868

-1.9498

-4.7468

5.1785

52 कर्मचारी सुविधाएं

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

0.0000

53 पास सुविधाएं

12.6740

17.1332

8.7518

67.7953

7.7220

22.4251

5.2919

13.6733

12.6740

64 अन्य निर्धारित कार्य

1.9446

0.1902

1.8028

6.6374

0.3213

3.0254

2.8352

1.2226

1.9446

65 एचआरडी

0.0000

0.0021

0.0000

0.1500

0.0000

0.1261

0.1240

0.1261

0.0000

अन्य

370.6894

237.6059

282.2845

489.1601

53.0592

297.5364

53.1867

8.5081

370.6894

अर्जन:

वरि.मंवाप्र/गुंतकल के परामर्श के अनुसार, मंडल के जनवरी - 24माह के लिए और माह के अंत तक अर्जन इस प्रकार है.  वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल आय 1868.09 करोड़ रुपये रहा.

अवधि

पास अर्जन

माल अर्जन

अन्य कोचिंग

फुटकर अर्जन

कुल

माह के लिए

85.93

72.09

12.52

2.27

172.81

माह के अंत तक

850.55

690.24

86.39

41.04

1668.22

जनवरी - 2023 की अपेक्षा जनवरी - 2024 माह के लिए मूल अर्जन 1.99 करोड़ रुपये अधिक है.

जनवरी - 2023 के अंत तक जनवरी - 2024 माह के लिए मूल अर्जन 130.62 करोड़ रुपये अधिक है.

vवसूली योग्य बिल :

अप्रैल, 2023 से जनवरी2024 की अवधि के दौरान, 01.04.2023 को प्रारंभिक शेष राशि 2.77 करोड़ रुपये है, 14.42 करोड़ रुपये के बिल बनाए गए हैं और 9.79 करोड़ रुपये की वसूली हुई है.  जनवरी,2024के अंत तक वसूल किए जाने वाले बिलों का अंतिम शेष 7.41 करोड़ रुपये है. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल वसूली योग्य बिल 15.10 करोड़ रुपये था.

31.01.2024को अंत शेष राशि का विवरण(आंकडे000’में)

वर्ष

2009-10

2014-15

2015-16

2016-17

2017-18

2018-19

2019-20

2020-21

2021-22

2022-23

2023-24

कुल

राशि

476

1

2

9

1988

234

18

11

5377

28

65932

74076

vलेखा परीक्षा :

      01.04.2023 को लेखा परीक्षा आपत्तियों का प्रारंभिक शेष 40 (3विशेष एलटीआरएस, 15एआईआर और22एएन)है.  अप्रैल 2023 से जनवरी, 2024 के दौरान 09 (Pt.I AIRs-06, Pt.I ANs-03 & Spl.Ltr.-00)  की वृद्धि और क्लियरेंस 04(Pt.I AIRs-00, Pt.I ANs-02 and Spl. Ltrs.,-02) का हुआ है और जनवरी 2023 को समाप्त अंत शेष 45 रिपोर्ट रहा जिसमें 01 स्पेशल लेटर्स, 21 पार्ट – I एआईआर और 23 पार्ट – I लेखा परीक्षा टिप्पणियां शामिल हैं. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल 43 (Pt.I AIRs-35, Pt.I ANs-7and Spl. Ltrs.-1)लेखा परीक्षा आपत्तियों को क्लियर किया गया.

vबचत :

      अप्रैल, 2023 से जनवरी, 2024 तक आंतरिक जांच के दौरान 24.97 करोड रुपए की राशि बचत की गई है. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल बचत 8.86 लाख रुपये रहा.

vसमापन रिपोर्ट:

      सभी कार्यों को पूर्ण करने के बाद समापन रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए चलाए गए विशेष अभियान द्वारा, अप्रैल, 2023 से जनवरी,2024 की अवधि के दौरान 72 समापन रिपोर्ट तैयार किये गये जिससे प्राक्कलित व्यय से अधिक खर्च 0.45 करोड रुपए का विनियमन किया गया. वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल समापन रिपोर्ट 03 रहा.


v पेंशन

ओ.एन.आर मामलों (मृत्यु,स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति एवं लार्सजेस मामलों) के निपटारे में विशेष ध्यान देने के कारण अप्रैल, 2023 से जनवरी, 2024 की अवधि के दौरान 112 ओ.एन.आर मामलों के अलावा 248सामान्य सेवानिवृत्ति मामले निपटाए गए.

· भविष्य निधि एवं नई पेंशन योजना

वर्ष 2022-23के लिए भविष्य निधि शेष का वार्षिक मिलान पूरा हो गया है और आर.ई.एस.एस (RESS)   सुविधा के कार्यान्वयन से कर्मचारियों के भविष्य निधि पासबुक को अद्यतन करना बंद कर दिया गया है.

             

     जनवरी-24के अंत तक, 11,172 कर्मचारी एनपीएस के दायरे में आ चुके हैं. जनवरी -24महीने के लिए ईसी और जीसी अपलोड कर दिया गया है. सितंबर-08 से जनवरी -24तक एनएसडीएल द्वारा 8,41,04,48,432/- रुपये की राशि अपलोड कर पुष्टि की गई है.

           रेलवे बोर्ड के दिशा-निर्देशों के अनुसार एनपीएस परिवार पेंशन मामलों के भुगतान की प्रक्रिया को क्रमबद्ध करने के लिए, एनपीएस पेंशन बिलों को पारित किया जा रहा है और एनपीएस परिवार पेंशन के भुगतान को विधिवत् रूप से विकेंद्रीकृत करते हुए भुगतान की व्यवस्था यूनिट स्तर पर की जा रही है. इस यूनिट द्वारा जनवरी, 2024 की अवधि के लिए 195पेंशनभोगियों के लिए 39,47,497/- रुपये की राशि की व्यवस्था की गई है.

            स्टॉक शीट :

अप्रैल, 23 से जनवरी, 24 की अवधि के दौरान 38स्टॉक शीट बंद कर दिये गये हैं. ताजा वृद्धि के कारण जनवरी -24 के अंत तक स्टॉक शीटों का समापन शेष 09 है. वित्त वर्ष 2022-23 के अंत तक बंद किए गए स्टाक शीट 29 रहा.

* उचंत :

उचंत खाते का मिलान अद्यतन है.  आज की तारीख में, स्कूटर अग्रिम के तहत कोई बीपीपी आइटम नहीं हैं और इस मंडल में दिसंबर - 23 के अंत तक कोई इनिफिशियेंट बेलंस नहीं है.

आरआईबी और चेक और बिल के तहत सभी पुराने वस्तुओं को क्लियर कर दिया गया है और आरआईबी के तहत 21 वस्तुएं बकाया शेष है, जिनमें 14, 10 दिन से कम पुराने है और 07, 10 दिनों से अधिक और 01 माह से कम पुराने हैं.  दिसंबर-23 के अंत तक चेक और बिल के तहत 14 मदें, जिनमें 10,  1 महीने से कम पुराने हैं और सभी मदें रोकडिया लेनदेन से संबंधित है.

बिलों की स्थिति:

अप्रैल से जनवरी 24 के दौरान 1615ठेकेदार बिल और 9121 आपूर्तिकर्ताओं के बिल पारित किए गए हैं.

   

मुख्य विशेषताएं:

I.अप्रैल से जनवरी 24 के दौरान कुल बचत 24.97 करोड़ रुपये है.

II. अप्रैल से जनवरी 24 के दौरान वसूली योग्य बिलों के रूप में रु. 9.79  करोड़ की वसूली की गई है, अर्थात बिजिली प्रभार के लिए 1,79,48,284/-रुपए, एलएलएफ के लिए 57,93,076/- रुपए, री-रेलिंग प्रभार के लिए20,73,501/- रुपए., भवन किराया एवं जल प्रभार के लिए 9,04,961/-रुपए, कर्मचारी प्रभार के लिए 2,18,39,108/-, निरीक्षण और रखरखाव प्रभार के लिए 3,18,09,755/-एवं अन्य रखरखाव प्रभार के लिए 1,76,10,265/-रुपए (समपार एवं रेसुब बंदोबस्त) है.

III.बुक्स सेक्शन में उचंत खाता बचत का मिलान अद्यतन है. आज की तारीख में, स्कूटर अग्रिम, पीसी अग्रिम के तहत कोई बीपीपी मद नहीं है और दिसंबर - 23 के अंत तक कोई इनिफिशियेंट बैलेंस नहीं मिला है.

IV. ओएनआरमामलों (मृत्यु, स्वैच्छिक सेवानिवृत्तिऔर LARSGESS मामलों) के निपटान में विशेष ध्यान देने के परिणामस्वरूप, अप्रैल 23से जनवरी 24की अवधि के दौरान 248एनआर मामलों को निपटाने के अलावा 112ओएनआर मामलों को भी क्लियर किया गया है.

 

V. अप्रैल 23से जनवरी 24के दौरान 42 नग सेकंडरी परिवार पेंशन के मामलों का निपटारा किया गया.

VI. अगले 3 वर्षों में सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों की सेवापंजियां और छुट्टी लेखा अग्रिम प्रमाणन का कार्य जारी है. अप्रैल 23से जनवरी 24के लिए 560 सेवापंजी व छुट्टी लेखा हैं और कार्मिक शाखा के परामर्श से इनका सत्यापन किया गया.

VII. अप्रैल 23से जनवरी 24के दौरान 546नग एमएसीपीएस मामले, 1334नग वेतन निर्धारण मामलें, 717स्थानांतरण मामलों और चिकित्सा प्रतिपूर्ति के 312मामलों का निपटारा किया गया.

          

       

नवाचार एवं कार्य पद्धति उन्नयन :

Øमई, 2019 माह के दौरान इस कार्यालय के सभी अनुभागों के कार्यपालकों द्वारा ई-ऑफिस के जरिए प्राप्त प्रस्ताव, बिल्स व अन्य महत्वपूर्ण पत्राचार के सक्रिय रूप से निगरानी के लिए ई-ऑफिस कार्य प्रणाली का कार्यान्वयन किया गया है और साथ ही जवाबी उत्तर भी केवल ई-ऑफिस के माध्यम से बनाए रखा गया है.