Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
Search :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in Hindi
National Emblem of India

About Us

Citizen Charter

Trains & Timings

Passenger Services / Freight Information

Public Information

Tenders

Contact Us

About Us
   Divisions
      Nanded
         COMMERCIAL
            Role of Commercial Department


 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
Role of Commercial Department


ORGANISATION AND FUNCTIONS OF THE COMMERCIAL DEPARTMENT

Commercial Department

The Commercial Department is responsible for the marketing & sale of the transportation provided by a railway, for creating and developing traffic, for securing and maintaining friendly relations with the travelling and trading public and for cultivating good public relations generally. The fixing of rates, fares and other charges and the correct collection, accountal and remittance of traffic receipts are also among its functions.

Chief Commercial Manager

102. The Chief Commercial Manager, as Head of the Commercial Department, is responsible to the General Manager for the efficient working of the Commercial Department. He is assisted by officers in different grades at the Head Quarter Office and in the Divisions including Area Officers where provided.

Divisional Commercial Manager/Area Manager

110. The Divisional Commercial Manager/Area Manager is responsible for the efficient conduct of commercial work over his Division/Area. He must ensure that reasonable facilities exist at various stations over his Division/Area for receiving, booking, forwarding and delivering of all descriptions of traffic; that the Commercial staff under his charge are prompt, civil and courteous in their dealings with the public and comply with the various rules and regulations laid down for the conduct of their work; that the various Tariffs, Rate Advices, Rate Tables, Distance Tables. Priority Registers etc. are available at stations, and that Fare Lists and other notices are suitably displayed o­n the Notice Boards. He must also arrange for periodical inspection of Stations, Booking and Reservation Offices, Parcels Goods Offices. Out Agencies. City Booking Offices and other ancillary services and catering and vending arrangements provided and o­n stations and op trains.

Commercial Staff

111. Rules and regulations for the proper discharge of their duties by the commercial staff are laid down in detail in the Indian Railway Commercial Manual.

Railway Administrations must ensure that commercial staff are properly trained in their duties and responsibilities: they must also ensure proper direction and control of the commercial staff.

वाणिज्यिक विभाग का संगठन और कार्य

वाणिज्यिक विभाग

वाणिज्यिक विभाग रेलवे द्वारा प्रदान किए गए परिवहन के विपणन और बिक्री, यातायात के निर्माण और विकास, यात्रा और व्यापारिक जनता के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों को सुरक्षित रखने और बनाए रखने और आम तौर पर अच्छे जनसंपर्क विकसित करने के लिए जिम्मेदार है। दरें, किराया और अन्य शुल्क तय करना और यातायात प्राप्तियों का सही संग्रह, हिसाब-किताब और प्रेषण भी इसके कार्यों में से हैं।

मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक

102. मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक, वाणिज्यिक विभाग के प्रमुख के रूप में, वाणिज्यिक विभाग के कुशल कामकाज के लिए महाप्रबंधक के प्रति जिम्मेदार है। उन्हें मुख्यालय कार्यालय और क्षेत्रीय अधिकारियों सहित डिवीजनों में विभिन्न ग्रेड के अधिकारियों द्वारा सहायता प्रदान की जाती है।

मंडल वाणिज्य प्रबंधक/क्षेत्र प्रबंधक

110. मंडल वाणिज्यिक प्रबंधक/क्षेत्र प्रबंधक अपने मंडल/क्षेत्र में वाणिज्यिक कार्य के कुशल संचालन के लिए जिम्मेदार है। उसे यह सुनिश्चित करना होगा कि उसके मंडल/क्षेत्र के विभिन्न स्टेशनों पर यातायात के सभी विवरणों को प्राप्त करने, बुकिंग करने, अग्रेषित करने और वितरित करने के लिए उचित सुविधाएं मौजूद हैं; उसके प्रभार के अधीन वाणिज्यिक कर्मचारी जनता के साथ व्यवहार में तत्पर, सभ्य और विनम्र हैं और अपने काम के संचालन के लिए निर्धारित विभिन्न नियमों और विनियमों का अनुपालन करते हैं; कि विभिन्न टैरिफ, दर सलाह, दर तालिकाएँ, दूरी तालिकाएँ। प्राथमिकता रजिस्टर आदि स्टेशनों पर उपलब्ध हैं, और किराया सूची और अन्य सूचनाएं नोटिस बोर्ड पर उपयुक्त रूप से प्रदर्शित की गई हैं। उसे स्टेशनों, बुकिंग और आरक्षण कार्यालयों, पार्सल माल कार्यालयों के समय-समय पर निरीक्षण की भी व्यवस्था करनी चाहिए। बाहर की एजेंसियाँ। सिटी बुकिंग कार्यालय और अन्य सहायक सेवाएं और स्टेशनों और ओपी ट्रेनों पर खानपान और वेंडिंग व्यवस्थाएं प्रदान की गईं।

वाणिज्यिक कर्मचारी

111. भारतीय रेलवे वाणिज्यिक मैनुअल में वाणिज्यिक कर्मचारियों द्वारा अपने कर्तव्यों के उचित निर्वहन के लिए नियम और विनियम विस्तार से दिए गए हैं।

रेलवे प्रशासन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वाणिज्यिक कर्मचारी अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों में उचित रूप से प्रशिक्षित हों: उन्हें वाणिज्यिक कर्मचारियों की उचित दिशा और नियंत्रण भी सुनिश्चित करना चाहिए।

वाणिज्य विभाग केनिम्न कार्य है

1. यात्रियों को आरक्षित तथा अनारक्षित टिकट जारी करना.

2. माल यातायात की बुकिंगलदान/उतरान एवं सुपुर्दगी.

3.पार्सलतथा यात्री सामान की बुकिंगलदान/उतरान एवं सुपुर्दगी.

4. पशुधन की बुकिंग, लदान /उतरान एवं सुपुर्दगी.

5. स्टेशनों तथा गाडियों में टिकट की जाँच करना. बिना टिकटअनियमित यात्रा करने वाले यात्रियों से प्रभार वसूल करना. बिना बुक सामान प्रभारित करना.

6. उपरोक्त कार्य से प्राप्त रोकड़ का लेखा जोखा करना तथा स्टेशन मास्टर/ रोकड़ लिपिक के माध्यम से मुख्य खजांची को भेजना.

7. माह के अंत में तुलन पत्र तथा समय समय पर अन्य विवरणीयां बनाकर लेखा कार्यालय भेजना.

8. आरक्षण तथा गाडी के चलने संबंधी पूछताछ की सुविधा प्रदान करना.

9. दावों का निपटारा तथा दावों के रोकथाम के उपाय करना.

10. जन संपर्क स्थापित करना.

11.जन शिकायतों का निपटारा करना.

12. यात्री को खानपान सेवा तथा अन्य सुविधाये उपलब्ध करना तथा दी जाने वाली सुविधाओ में सुधार करना.

13. वाणिज्य प्रचार - रेल व्दारा उपलब्ध सेवा / सुविधाओ का प्रचार करना तथा विज्ञापन के माध्यम से आय प्राप्त करना.

14. विपरण एवं विक्रय के कार्य

15. यातायात सर्वेक्षण के कार्य.

16. यातायात के अन्य साधनों के साथ समन्वय स्थापित करना.

17. दुर्घटना होने पर दुर्घटना स्थल पर यात्रियों को खान पान सेवावैकल्पिक यातायात की सेवा उपलब्ध करना तथा अनुग्रह राशि प्रदान करना.

18. रेल उपभोक्ताओ के साथ स्टेशन. मंडलक्षेत्रीय तथा रेलवे बोर्ड स्तर पर बैठक करना.

19. हाल्ट स्टेशनसिटी बुकिंग कार्यालयसिटी बुकिंग एजेंसीआउट एजेंसी तथा साइडिंग खोलना.हाल्ट स्टेशन पर टिकट बेचने के लिये ठेकेदार नियुक्त करना.

20. स्टेशन बकाया का निपटारा करना.

Functions of Commercial Department –

 1. To issue reserved and unreserved tickets to passengers.

 2. Booking, loading / unloading and delivery of Goods traffic.

 3. Booking, loading / unloading and delivery of parcel and passenger luggage.

 4. Booking, loading / unloading and delivery of livestock. 

5. Checking of tickets at stations and in trains. Collection of Charges from without ticket and irregular Travellers. Charging of unbooked luggage. 

6. Accountal of cash received from above mentioned activities and remittance to Chief Cashier through Station Master / Cash clerk. 

7. Preparation and submission of Balance sheet at the end of the month and other statements time to time to the Accounts Office. 
8. To provide facility of enquiry regarding reservation and running of trains.

9. Disposal of claims and taking measures to prevent claims. 

10. Maintain public relations.

 11. Disposal of public complaints.
12. To provide catering service and other passenger amenities and upgradation of provided amenities. 
13. Commercial publicity – Publicity of services / amenities provided by Railways and earn through advertisements. 

14. Marketing and Sales.

 15. Traffic Survey.
16. To co-ordinate with other modes of transport.

 17. To provide catering service, alternate transport services to passengers and payment of ex-gratia at accidental site. 

18. To conduct meeting with railway users at Station, Divisional, Zonal and at the Railway Board level. 

19. Opening of halt station, City Booking Office, City Booking Agencies, out agencies and Sidings. Appointment of contractors for sale of tickets at halt station. 

20. Disposal of station outstanding.




Source : South Central Railway CMS Team Last Reviewed : 09-05-2024  


  Admin Login | Site Map | Contact Us | RTI | Disclaimer | Terms & Conditions | Privacy Policy Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2016  All Rights Reserved.

This is the Portal of Indian Railways, developed with an objective to enable a single window access to information and services being provided by the various Indian Railways entities. The content in this Portal is the result of a collaborative effort of various Indian Railways Entities and Departments Maintained by CRIS, Ministry of Railways, Government of India.