Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

नागरिक चार्टर

रेलगाड़ियां तथा समय

यात्री सेवाएं / भाड़ा जानकारी

सार्वजनिक सूचना

निविदाएं

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
संरक्षा


                         हमारे बारे में

                         फोटो गैलरी

                         सामान्य प्रशासन

                         हम से संपर्क करें

                         लेखा विभाग

                         वाणिज्य

                         विद्युत

                         इंजीनियरी

                         लोको शेड

                         यांत्रिक

                         चिकित्सा

                         परिचालन

                         कार्मिक विभाग

                         राजभाषा

                         संरक्षा

                         सुरक्षा

                         सिगनल व दूरसंचार

     


          दुर्घटना मुक्त गाड़ी परिचालन और संरक्षा से कोई समझौता किए बिना निर्धारित मदों का अनुरक्षण.

विभाग का अवलोकन

परिचय:

सिकंदराबाद मंडल का संरक्षा संगठन गाड़ी परिचालन ड्यूटियों से संबंधित फील्ड कर्मचारियों में संरक्षा सजगता बढ़ाने तथा ग्राहकों को विश्वसनीय व सुरक्षित सेवा प्रदान करने के लिए निरंतर प्रयासरत है. दुर्घटनाओं की संभावना को कम करने के उद्देश्य से मंडल ने संरक्षा को अधिक प्राथमिकता दी है,

संगठनात्मक ढ़ांचा:

इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित विभिन्न उपायों को अपनाते हुए संरक्षा संगठन एक विशिष्ट भूमिका निभा रही है.,

·सहायक अधिकारी व पर्यवेक्षकों द्वारा व्यापक संरक्षा शिविर तथा संरक्षा सेमिनार

·संवेदनशील तथा महत्वपूर्ण विषयों पर संरक्षा अभियान

·रात्रि निरीक्षण, आकस्मिक रात्रि निरीक्षण.

·शार्ट कट पद्दतियों को अपनाने से रोकने के लिए लगातार घात लगाकर जांच.

·नियमित संरक्षा साहित्य जैसे संरक्षा चेतावनी सूचना, विभिन्न संरक्षा अनुदेश/नियमों पर जारी पाक्षिक संरक्षा बुलेटिनों को द्विभाषी रूप में जारी किया जाता है ताकि निचले स्तर के कर्मचारी आसानी से उन्हें समझ सकें.

·पूरे मंडल पर संरक्षा कोटि के कर्मचारियों को परामर्श देना.

·संरक्षा कोटि के कर्मचारियों की पीएमई तथा पुनश्चर्या पाठ्यक्रम की मानीटरी करना.

·बिनाचौकीदारवाले समपार फाटकों पर स्थानीय आरटीओ के साथ जन जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन, संरक्षा पोस्टर/स्टीकरों का प्रिंट किया गया तथा संभी संबंधित व जनता में वितरित किया गया

·एआरटी/एमआरवी का आवधिक संयुक्त निरीक्षण & निर्धारित बारंबारिता के अनुसार उसके संचलन को सुनिश्चित करना.

·महत्वपूर्ण/चुने गए स्टेशनों तथा फील्ड सेंटरों में संयुक्त संरक्षा लेखापरीक्षा का आयोजन

·दूसरे मंडल के चुने गए स्टेशनों में अंतर मंडल संरक्षा लेखापरीक्षा का आयोजन

उपर्युक्त उपायों को अपनाते हुए संरक्षा संगठन दुर्घटनाओं की संभावनाओं को कम करने के लिए हर प्रयास कर रहा है.

I.जारी संरक्षा साहित्य (2015-16)

क्र.सं

विवरण

जारी

1

संरक्षा समाचार  (पाक्षिक संरक्षा बुलेटिन)

16

2

चेतावनी सूचना

08

3

स्टेशनों पर संरक्षा बैठक

08 (हर एक स्टेशन पर)

4

फ्लाई लीफ (Jan-15 से)

10

5

प्रधान कार्यालय के द्वि-मासिक संरक्षा बुलेटिन

( Jan /15 से)

04

6

विजिल (Jan /15 से )

02

7

साप्ताहिक संरक्षा बुलेटिन (प्र.का)

09

II.चालू वर्ष के दौरान अप्रैल/15 से नवंबर/15 के बीच आयोजित संरक्षा अभियान निम्नानुसार है:-

2015-16 के दौरान आयोजित संरक्षा अभियान

अप्रैल/2015

कुछ नहीं

मई/2015

1

कोयला लदान पाइंटों पर लदान करने से पहले सही तरीके से पानी छिड़काने के बारे में विशेष अभियान चलाया गया.

15 दिन

2

समपार फाटक जागरूकता सप्ताह तथा अंतर्राष्ट्रीय समपार फाटक जागरूकता दिवस”( 3rd जून 2015 को ILCAD पर) को मनाते हुए विशेष संरक्षा अभियान चलाया गया

15 दिन

3

 GR 6.07 के अनुपालन के लिए विशेष संरक्षा अभियान

15 दिन

जून/2015

कुछ नहीं

जुलाई /2015

1

मॉनसून पेट्रोलिंग पर विशेष संरक्षा अभियान

15 दिन

2

वर्तमान मॉनसून के दौरान तूफान, भारी वर्ष तथा भूस्खलन आदि के कारण होने वाली दुर्घटनाओं से बचने के लिए विशेष संरक्षा अभियान चलाया गया.

15 दिन

अगस्त/2015

1

एचएस बत्ती/तिरंगे टार्चों के कार्यचालन की जांच करने के लिए विशेष संरक्षा अभियान चलाया गया.

15 दिन

सितंबर /2015

1

कर्मीदल लॉबियों में  विशेष संरक्षा अभियान.

10 दिन

2

पाइंट व क्रासिंगों के संयुक्त निरीक्षण की गई प्रेक्षणों पर ध्यान देने हेतु विशेष संरक्षा अभियान चलाया गया.

15 दिन

अक्तूबर/2015

1

संरक्षा संबंधित तैयारी पर संरक्षा अभियान.

30 दिन

2

वर्तमान नियम तथा कार्यविधियों का पालन न करने पर विशेष संरक्षा अभियान चलाया गया. .

15 दिन

नवंबर/2015

1

गाड़ियों में आग की दुर्घटनाओं के निवारण के लिए विशेष संरक्षा अभियान चलाया गया.

15 दिन

III.01.04.15 से 31.10.15तक संरक्षा शाखा द्वारा आयोजित निरीक्षण/जांच

दिन

रात्रि

कुल

अधिकारी

99

59

158

पर्यवेक्षक

1126

510

1636

IV.01.04.15 से 31.10.15तक मंडल अधिकारी द्वारा आयोजित निरीक्षण

( संरक्षा शाखा द्वारा जारी रात्रि निरीक्षण शेड्यूल ):

रात्रि फुटप्लेट

स्टेशन/समपार

रात्रि निरीक्षण

कुल

116

462

578

V.आयोजित निरीक्षण/जांच (2015-16)

                             ( 25.11.2015 तक)

क्र.सं

विषय

नंबर

1

महत्वपूर्ण स्टेशनों पर जेए ग्रेड अधिकारियों द्वारा संरक्षा लेखापरीक्षा .

4

2

जेए ग्रेड अधिकारियों द्वाराएआरटी/एमआरवी का संयुक्त निरीक्षण.

4

3

मंडल अधिकारियो द्वारा आकस्मिक रात्रि निरीक्षण

83 (प्रति माह औसत)

4

शाखा अधिकारियों के साथ मंडल रेल प्रबंधक द्वारा संरक्षा निरीक्षण

5

5

अन्य मंडलों पर अंतर मंडल संरक्षा लेखापरीक्षा.

1

2.चिंता के क्षेत्रों में किए गए विशेष पहल:

I.एसपीएडी के निवारण के लिए उठाए गए कदम:

1.एसपीएडी मामलों के विभिन्न कारणों पर लोको पायलट/सहायक लोको पायलटों को जानकारी/ परामर्श देने के लिए मंडल के सभी कर्मीदल लॉबीयों पर संरक्षा अभियान चलाए गए.

2.एसपीएडी मामलोंसे बचने के लिए क्या करें  & क्या न करें पोस्टर सभी लॉबीयों तथा रनिंग रूमों में प्रदर्शित किए गए.

3.जारी निर्देश:

a)लोको पायलट/सहायक लोको पायलट दोनों के बजाए लोको पायलट वीसीडी की पावती दें.

b)चालन तकनीक में सुधार अर्थात सतर्कता आदेश पर अनुमत सिगनल को सावधान गति पर पार करते समय गाड़ी चलाना तथा ढ़लान पर खतरा सिगनल पर पहुंचना आदि के लिए लोको पायलटों को.

c)टर्मिनल स्टेशनों पर प्रवेश करते समय निर्धारित गति का पालन करना.

d)मेमु/ईएमयू में ईपी ठीक तरह से काम करने पर ऑटो/आपात/डीएमएच ब्रेकों का ठीक तरह से उपयोग करना.

e)नामित स्टेशनों पर ईएमयू के ऑटो ब्रेक लगाते हुए कार्यचालन स्थिति सुनिश्चित करना.

4.सभी कर्मीदल लॉबी डिपो में  LP/ALP के साथ परामर्श का आयोजन.

5.ड्यूटी पर LP/ALPसीयूजी फोन को आफ करते हैं यह सुनिश्चित करने के लिए लगातार जांच.

II.मानवीय-भूल के कारण होनेवाली दुर्घटनाओं के निवारण के लिए उठाए गए कदम:-

1.अधिकारियों द्वारा लगातार स्टेशन/यार्ड कर्मचारियों को मानीटरी की जा रही है.

2.मंडल के विभिन्न सेक्शनों में दैनिक आधार पर घात लगाकर जांच तथा रात्रि-आकस्मिक निरीक्षण किये जा रहे हैं तथा गलती करनेवालों पर निवारक कार्रवाई की जा रही है.

3.लोको (रनिंग) कर्मचारी तथा गाड़ी-चालन ड्यूटी करने वालेकर्मचारियों के ग्रेडेशन की मानीटरिंग लागू करना.

4.पुनश्यर्या पाठ्यक्रम, पीएमई, संरक्षा शिविर आदि पर भेजे जानेवाले कर्मचारियों की मानीटरी.

5.प्रचार, संरक्षा साहित्य जैसे पाक्षिक संरक्षा समाचार बुलेटिन, चेतावनी सूचना, फ्लाई लीफ, पोस्टर, ब्रोचर, पॉकेट-फोल्डर तथा श्रव्य/दृश्य साधनों के माध्यम से भी कर्मचारियों में संरक्षा सजगता बढ़ाना

6.गाड़ी दुर्घटना/असाधारण घटनाओं के कारणों से संबंधित विभिन्न विषयों पर संरक्षा- अभियान चलाए जा रहे हैं.

7.गाड़ियों के सुरक्षित चालन से संबंधित विभिन्न विषयों पर समय-समय पर सेमिनारों का आयोजन किया गया.

8.विभिन्न विषय जैसे मॉनसून/शीतकालीन पेट्रोलिंग पर सेमिनारों का आयोजन करते हुए गैंगमैन & ट्रैकमैन को परामर्श दी जाती है, वेल्ड खराबी/रेल टूट-फूट आदि के मामले में की जाने वाली कार्रवाई, रेल की सुरक्षा करने के लिए पटाखे रखने की पद्दति, गेटमैन की ड्यूटियां, हाल ही में हुई दुर्घटनाएं तथा उनके कारणों पर विवरण दिया जाता है.

III.समपार दुर्घटनाओं के निवारण के लिए उठाए गए कदम:

a)गैटमैन द्वारा प्रक्रिया का पालन सुनिश्चित करने के लिए समपार फाटकों की आवधिक जांच की जाती है.

b)गैटमैन की सक्षमता तथा निर्धारित मानदंडों के अनुसार अवसंरचना की उपलब्धता सुनिश्चित की जाती है.

c)गैटमैन की सजगता तथा संयम सुनिश्चित करने के लिए आकस्मिक रात्रि नरीक्षणों का आयोजन किया जा रहा है.

d)रनिंग गाड़ियों में असाधारण/असामान्य स्थितियां पाई जाने पर की जाने वाली कार्रवाई के बारे में फाटकवालों को परामर्श दी जाती है.

e)विभिन्न असाधारण परिस्थितियों पर फाटकवाले की ड्यूटियों को सूचित करते हुए सभी समपार फाटकों पर संरक्षा बोर्ड लगाए गए हैं.

f)फाटक खराबियां/सड़क वाहनों द्वारा अवरोध- गाड़ी चालन के मामले में की जाने वाली कार्रवाई के बारे में फाटकवालों को परामर्श दी जाती है.

बिना चौकीदारवाले समपार फाटकों पर दुर्घटनाओं के निवारण के लिए कदम :

a)बिना चौकीदारवाले समपार फाटकों पर संरक्षा के बारे में सड़क उपयोक्ताओं को जानकारी देने के लिए बड़े स्टेशनों पर सीसीटीवी के जरिए, यूएमएलसी के पास फोन पर एसएमएस के जरिए, पोस्टर व समाचार पत्रों के माध्यम से समय-समय पर प्रचार अभियान चलाए जाते हैं.

b)मोटर वाहन अधिनियम, 1988, और रेल अधिनियम, 1989 के प्रावधानों के अंतर्गत गलती करने वाले सड़कवाहन चालकों को पकड़ने के लिए सिविल प्राधिकारियों के साथ संयुक्त एमबुश जांच आयोजित किये जाते हैं.

c)फाटक परामर्शदाताओं की व्यवस्था: सभी 52 बिनाचौकीदारवाले समपार फाटकों पर दो शिफ्टों में दिन व रात में फाटक परामर्शदाताओं की व्यवस्था की गई है.

क्र.सं

मद

संख्या

1

बिनाचौकीदारवाले समपार फाटकों पर अंग्रेजी, तेलुगु, हिंदी, कन्नड़ तथा मराठी में संरक्षा के बारे दी गई एसएमएस की संख्या

7 लाख

2

संरक्षा स्टीकर

850

3

समपार फाटक, बस स्टैंड, पेट्रोल बंक, आरटीओ कार्यालय, पंचायत कार्यालय में करपत्रों का वितरण

2540

4

संरक्षा पोस्टर

100

5

प्रमुख स्थानीय तथा प्रांतीय भाषा के समाचार पत्रों में मीडिया कवरेज (फोटो संलग्न हैं) दी गई है & स्टेशनों के पास विज्ञापन वाले होर्डिंग/ फ्लेक्सी लगाए गए.

4 समचार पत्र

18 फ्लेक्सी

6

नुक्कड़ नाटकों का आयोजन

5 स्थान

7

स्टेशनों पर सीसीटीवी में श्रव्य दृश्य शार्ट फिल्म तथा सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली

25 स्टेशन

8

समपार, बस डिपो, पेट्रोल पम्प के पास गांवों में संरक्षा विभाग ने स्काउट व गाइडों के साथ जन जागरूकता अभियान चलाया तथा फिल्म/ वीडियो दिखाया.

41 चौकीदार,

58बिना चौकीदार,

35 गांव

9

आरटीओ/रेसुब तथा स्थानीय पुलिस के साथ समपार फाटकों पर विशेष  जांच.

8

10

जागरूकता अभियान  & संरक्षा बैठक.

29

11

मोटर वाहन अधिनियम के प्रावधान के बारे में सड़क उपयोक्ताओं को जानकारी देना

1500

12

गाड़ियों के लोको पायलटों द्वारा सीटी बजाने की आदत पर जांच

105

13

बिनाचौकीदारवाले समपार फाटकों पर अवसंरचना की जांच

58

14

परामर्श दी गई सड़क उपयोक्ता

6000

IV.संरक्षा सेमिनार:भद्राचलम में

1.अपर मंडल रेल प्रबंधक/तकनीक/सिकंदराबाद की अध्यक्षता में दि.03.06.2015 को भद्राचलम रोड स्टेशन पर मेगा संरक्षा सेमिनार का आयोजन किया गया. वरि.मंसंधि, उप मुसंधि/विद्युत, मंडल वाणिज्य प्रबंधक, क्षेत्र अधिकारी/भद्राचलम रोड, राज्य सरकार के आरटीओ अधिकारी तथा 180 से अधिक कर्मचारी सेमिनार में उपस्थित हुए. सेमिनार के दौरान समपार फाटकों पर दुर्घटना मामलों के अध्ययनों तथा पिछले दो वर्षों में पाई गई त्रुटियों पर पावर पाइंट प्रस्तुति दिया गया. समपारों पर संरक्षा संबंधित विभिन्न मद जैसे गैटमैन द्वारा अनुपालन, स्टेशन मास्टर व सिवदू कर्मचारी, सड़क स्थिति का रख-रखाव, मानक साइनेज सुनिश्चित करना आदि को दोहराया गया है.

2.सेमिनार के अंत में इंटरैक्टिव सत्र का आयोजन किया गया, मुख्य लोको निरीक्षक,लोको पायलट, सहायक लोको पायलट, यातायात निरीक्षक, स्टेशन प्रबंधक ,रेलपथ निरीक्षक, सीसेइंजी/सेइंजी/जूइंजी/सिग के कर्मचारी, अंतर्पाशित व गैर-अंतर्पाशित समपार फाटकों के पाइंट्समैन तथा गैटमैन उपस्थित थे, स्थानीय समाचार पत्रों में इस कार्यक्रम को कवर किया गया.

3.उपर्युक्त के अलावा, अपर मंडल रेल प्रबंधक/तकनीकतथा अन्य अधिकारियों ने प्लैटफार्म पर यात्रियों से बात-चीत की तथा रेल यात्री/उपभोक्ता पखवाड़ा के उपलक्ष्य में करपत्र तथा स्टीकरों का वितरण किया गया. 300 से अधिक यात्रा प्लैटफार्म पर जमा हुए.

4.चौकीदारवाले समपार फाटकों पर गैटमैन तथा बिनाचौकीदारवाले समपार फाटकों पर गैट मित्राओं को समपार फाटकों पर संरक्षा से संबंधित मदों पर गहन परामर्श दी गई.

5.41 चौकीदारवाले तथा सभी 58 बिनाचौकीदारवाले समपार फाटकों पर 26.5.15 से 09.6.15 तक संरक्षा अभियान चलाए गए.

6.समपार फाटकों पर जागरूकता तथा सावधानी के बारे में लगभग 2337 सड़क उपयोक्ताओं को परामर्श दी गई तथा लगभग 2540 करपत्र वितरित किए गए.

7.इन अभियानों के दौरान जागरूकता से संबंधित श्रव्य क्लिप्पिंगों का समपार फाटकों पर सुनाया गया.

8.10 स्टेशन/यार्डों पर संरक्षा जागरूकता प्रतिक्रिया सत्रों का आयोजन किया गया तथा 403 कर्मचारी व 820 यात्रियों से बात-चीत की गई.

9.चार कर्मीदल बुकिंग/रनिंग रूमों पर लोको पायलट, सहायक लोको पायलट, मुख्य लोको निरीक्षक, गार्ड तथा कांटेक्ट कर्मचारियों से बात-चीत की गई.

10.अभियान के दौरान यातायात पुलिस/ जीआरपी के साथ रेल सुरक्षा बल कर्मचारियों ने दो पहियावाहनों पर जांच आयोजित की तथा रु.1000/- जुर्माना वसूल की तथा 15 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया तथा कचरा फेंकने वाले तथा पेशाब करने वालों से रु.3300/- जुर्माना वसूल की.


     




Source : दक्षिण मध्‍य रेलवे CMS Team Last Reviewed on: 22-06-2021  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.