Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

नागरिक चार्टर

रेलगाड़ियां तथा समय

यात्री सेवाएं / भाड़ा जानकारी

सार्वजनिक सूचना

निविदाएं

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
बिजली

विद्युत

विद्युत (अनु) शाखा मुख्यतः हैदराबाद क्षेत्र, रेल निलयम भवन के आस-पास 7977 क्वार्टरों के बिजली रख-रखाव और पानी की पंपिंग की आवश्यक्ताओं को पूरा करने के लिए जिम्मेदार है. इसके अलावा विद्युत(अनु)संगठन के अंतर्गत 367 गाड़ी प्रकाश डिब्बों 53 वातानुकूलित डिब्बों के बिजली भाग के अनुरक्षण के लिए भी जिम्मेदार है. विद्युत शाखा के प्रमुख कनिष्ठ प्रशासनिक ग्रेड/एसजी के अधिकारी हैं और इनकी सहायता 3 समंविंजी करते हैं

1.0उपलब्धियां

1.1वाटेज में वृद्धि के बावजूद ऊर्जा खपत में निरंतर कमी हासिल की गई.

1.2ऊर्जा संरक्षण उपायों के कारण विशिष्ट खपत (ईयू/वाट)में निरंतर सुधार हुआ है.

क्रमसं.

वित्तीयवर्ष

जुड़ाभार

ऊर्जाखपत(केयू)

ईयू/वाट

1

2007-08

27150

27580

1.016

2.

2008-09

27720

28210

1.017

3.

2009-10

27965

29020

1.038

4.

2010-11

28537

17450

0.611

2010-11 अप्रैल से दिसंबर

2011-12 अप्रैल से दिसंबर

यूनिट

भुगतान की गई राशि

मिलियन यूनिट

भुगतान की गई राशि

29.38एमयू

14.30 करोड़ रु.

29.16 मि.यू

14.84 करोड़ रु.

1.3हैदराबाद मंडल के कम कर्मचारियों द्वारा वाट का रख-रखाव किया गया.

1.4धर्माबाद स्टेशन पर 19 KWp सोलार पीवी. स्टैंड अलोन प्रणाली उपलब्ध कराते हुए यह मंडल सौर्य ऊर्जा काम में लाने वाला पहला मंडल है.

1.0काचीगुडा डिपो (गाड़ी प्रकाश और एसी) : उपलब्धियां

1.1प्रतिटीएल डिब्बा कर्मचारियों की संख्या 0.26 है और प्रति एसी डिब्बाकर्मचारियों की संख्या 0.92 है.गैर प्रमुख गतिविधियों का कार्य आउटसोर्स द्वारा कराया जाता है. इस डिपो में संरक्षा सुनिश्चित करने के लिए और अधिक कइंजी और सेइंजी तथा पर्यवेक्षों का आवश्यक्ता है

1.2डिब्बोंमें आग से सुरक्षा का अभियान चलाया गया. अर्थ क्षरण पर शून्य सहनशीलता अपनाई गई. सभी रेकों के पंखों की धूल निकाल दी गई और सभी टर्मीनल बोर्ड को ठीक किया गया, परिणामस्वरुप शून्य अर्थ क्षरण रहा.

1.0काचीगुडा डिपो निष्पादनः

क्रम. सं.

विवरण

निष्पादन

2010-11

लक्ष्य 2011-12

दिसंबर 11 तक उपलब्धि

1.

सीएनसी

0

0

0

2.

गारप्र और एसी तथा पावर सप्लाई के कारण समयपालन हानि मामले

0

0

3.

एसीडिब्बोंकाअव्रभावीप्रतिशत


विद्युत

0

0.8%

0


गाड़ी प्रकाश डिब्बों का अव्रभावी प्रतिशत


विद्युत

0

0%

0

4.

यांत्रिक (पीओएच सहित)

0

0

0

2.0हैदराबाद मंडल द्वारा अनुरक्षित परिसंपत्तियां

क्रम.सं.




रेलवे क्वार्टर

1

विद्युतीकृत स्टेशन

94

I

टाइप-I

4627

2

वाटर कूलर लगाए गए स्टेशन

22

II

टाइप-II

2021

3

स्टेशनों पर वाटर कूलरों की सं.

31

III

टाइप -III

724

4

स्टेशनों पर माडुल चिल्ड पानी संयंत्रों की सं.

10

IV

टाइप -IV

307

क.

वाटर कूलर


V

टाइप -IVSpl.

58

ख.

कारखाना/शेड

2

VI

टाइप -V

191

ग.

अस्पताल

24

VII

टाइप -VI

7

घ.

कार्यालय/कैंटीन

122

VIII

बंगला

42


कुल

148


कुल

7977

i

बिजली पंपों की सं.

325

a

एचटी स्टेशन

2

Ii

डीजी सेटों की सं.

25

b

एचटी सप्लाई पाइंट

12

Iii

केवीए में क्षमती

3346

c

एचटी उप स्टेशन

47

iv

महत्वपूर्ण स्टेशनों में डीजी सेट

6

d

ट्रान्सफार्मरों की सं.

97


A

एसी यूनियेम की सं.

1030

e

ट्रान्सफार्मरों का केवीए

49466

B

जुडा भार (किवा में )

28539.37

i

मोटरों का सं.

327




ii

मोटरों का हार्स पावर

4926




Source : दक्षिण मध्‍य रेलवे CMS Team Last Reviewed on: 16-10-2020  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.