Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोजें:
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

नागरिक चार्टर

रेलगाड़ियां तथा समय

यात्री सेवाएं / भाड़ा जानकारी

सार्वजनिक सूचना

निविदाएं

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
कर्षण वितरण


                                                                   कर्षण वितरण (30.06.2023 को)

उद्धेश्य

कर्षण वितरण का उद्धेश्य माल गाड़ी और पैसेंजर गाडी सेवाओं के सुरक्षित, विश्वसनीय और कुशल परिचालन उपलब्ध करना है.

गतिविधियाँ

दक्षिण मध्य रेलवे पर विद्युतीकरण की प्रगति


विजयवाड़ा-गुडूर सेक्शन के विद्युतीकरण के साथ दमरे पर विद्युतीकरण 1980 में आरंभ हुआ. मार्च 2023 के अंत तक, कुल 5,802 रूट किलोमीटर और 12,005 ट्रैक किलोमीटर का विद्युतीकरण किया गयाजो दमरे के छह मंडलों सिकंदराबाद, विजयवाड़ा, गुंतकल, गुंटूर, हैदराबाद और नांदेड़ तक फैला हुआ है. दमरे पर कुल 6,471 (बला) रूट किलोमीटर ट्रैक में से, 5,802 रूट किलोमीटर अर्थात् कुल ट्रैक का 90% विद्युतीकृत किया गया है और 2022-23 में दमरे ने 1017 रूट किलोमीटरका विद्युतीकरण किया जो भारतीय रेल पर दूसरा सबसे अधिक कार्य है. प्रतिष्ठित वंदे भारत गाड़ी विद्युत कर्षण पर कार्य करती है. 8 कार वाली वंदे भारत गाड़ी में लगभग 4500 एचपी पावर है और 16 कार वाली वंदे भारत गाड़ी में लगभग 9000 एचपी पावर है.


विद्युत विभाग के इस विंग द्वारा निम्नलिखित कार्यों का रखरखाव किया जाता है

    

मंडलवार विद्युतीकरण (31.03.2023तक)

  • मंडलवार (बीजी): रूट किमी और ट्रैक किमी

मंडल

दमरे पर कुल मार्ग किमी

कुल विद्युतीकृत मार्ग किमी (बीजी)

कुल विद्युतीकृत रेलपथ किमी (बीजी)

सिकंदराबाद

1557

1508

3562

विजयवाडा

1065

1004

2794

गुंतकल

1449

1436

3024

गुंटूर

678

678

1118

हैदराबाद

737

572

840

नांदेड

986

603

705

कुल

6471

5802

12042


  • राज्यवार: रूट किमी


राज्य State

रूट किमी

बीजी रूट किमी

एमजी रूट किमी

कुल रूट किमी

विद्युतीकृत

गैर- विद्युतीकृत

बीजी

बीजी

एमजी

आंध्र प्रदेश*

2930.229

63.998

0

2994.227

--

2994.227

तेलंगाना *

1838.115

127.143

0

1965.258

--

1965.258

महाराष्ट्र

737.938

304.817

59.940

1042.755

59.940

1102.695

कर्नाटक

288.669

98.50

0

387.169

--

387.169

मध्य प्रदेश

0

0

70.18

--

70.18

70.18

तमिलनाडु

6.86

0

0

6.86

--

6.86

कुल

5801.811

594.458

130.12

6396.269

130.120

6526.389

*सिकंदराबाद मंडल में तेलंगाना (भद्राचलम-भुवन्नापालेम-सत्तुपल्ली सेक्शन) में 51.799 रूट किमी जोड़े गए और विद्युतीकृत बीजी रूट में आंध्र प्रदेश(गुंतकल मंडल की गुत्ती बाईपास लाइन) में 3.172 रूट किमीजोड़े गए


दक्षिण मध्य रेलवे पर विद्युतीकृत सेक्शन


  • विजयवाड़ा - गुडूर
  • विजयवाड़ा - विशाखपट्टणम

  • विजयवाड़ा-भीमावरम टाउन-निडदवोलू

  • गुडिवाड़ा - मचिलीपट्टणम

  • भीमावरम टाउन-नरसापुर

  • सामलकोट - काकिनाडा

  • ओबुलवारिपल्ली - कृष्णापट्टणम पोर्ट

  • विजयवाड़ा - काजीपेट - बल्लारशाह

  • डोर्नकल-कारेपल्ली-सिंगरेनी कॉलरीज-भद्राचलम-मनुगुरु

  • पेद्दपल्ली - लिंगमपल्ली जगित्याल - मोर्थड-निजामाबाद

  • काजीपेट - सिकंदराबाद - हैदराबाद - सनतनगर - विकाराबाद - वाडी

  • विकाराबाद - परली वैजनाथ

  • मानिकगढ़ - गढ़चंदूर

  • मोटुमारी-जग्गयपेट-मेल्लाचेरुवु-जनपहाड़-विष्णुपुरम

  • गुडूर-रेणिगुंटा-तिरुपति-पाकाला-काटपाडी

  • रेणिगुंटा - गुत्ती - गुंतकल - वाडी

  • गुत्ती-धर्मवरम

  • गुत्ती - पेंडेकल्लू

  • गुंतकल - कल्लूरु

  • गुंतकल - बेल्लारी

  • धर्मवरम - पाकला

  • नांद्याल-येरगुंटला

  • कृष्णा केनाव - गुंटूर - नल्लपाडु - डोन - गुंतकल

  • गुंटूर - तेनाली - रेपल्ले

  • नल्लपाडु - नाडिकुडि - पगिडिपल्ली

  • नडिकुडि - माचेर्ला

  • सनतनगर - लिंगमपल्ली मल्टी मोडल ट्रांसपोर्ट के अंतर्गत

  • तेलापुर-रामचंद्रपुरा मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट के अंतर्गत

  • घटकेसर - मौला अली मल्टी मोडल ट्रांसपोर्ट के अंतर्गत तीसरी और चौथी लाइन

  • सिकंदराबाद-उमदानगर मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट के अंतर्गत

  • सिकंदराबाद - मलकाजगिरी - मेडचल मल्टी मॉडल परिवहन के अंतर्गत

  • मेडचल-मनोहराबाद-निजामाबाद-बासर

  • जनकमपेट-बोधन

  • उम्दानगर-डोन

  • गदवाल - रायचूर

  • अकोला-पूर्णा

  • पिम्पलकुट्टी-मुदखेड

  • परली वैजनाथ-परभणी

  • अंकाई-औरंगाबाद-दीनागांव


दक्षिण मध्य रेलवे पर चल रहे विद्युतीकरण कार्य .

  • दिनगांव-परभणी-नांदेड़-मुदखेड़-बासर
  • बीदर-गुलबर्गा
  • देवरकद्रा-कृष्ण
  • कडपा-पेंडिलिमर्री
  • अक्कनापेट-मेदक
  • मनोहराबाद-गजवेल
  • अकोला-अकोट
  • कोटिपल्ली-मनोहराबाद
  • काकिनाडा-कोटिपल्ली
  • नरसापुर- कोटिपल्ली



विद्युत कर्षण वितरण कार्य प्रणाली



राज्य ग्रिड से 220/132 केवी पावर सप्लाई2 फेज पर प्राप्त की जाती है और कर्षण सब-स्टेशनों पर 25 केवी, सिंगल फेज तक कम की जाती है. इस 25 केवी सिंगल फेज सप्लाई को ओवर हेड कंडक्टर सिस्टम में फीड किया जाता है, जिसमें फ्लेक्सिबल ड्रॉपर द्वारा कैटेनरी से लटकती ग्रूव्ड कॉन्टैक्ट वायर होता है. इंजन के पेंटोग्राफ पैन और कान्टेक्ट वायर के निचले स्तह के बीच निरंतर स्लाइडिंग कान्टेक्ट होता है.इंजन में पेंटोग्राफ जब उठाया जाता है तो कान्टेक्ट वायर पर 7.0 किग्रा/सेमी² दबाव डालता है जो इंजन को ओवर हेड कंडक्टर से करंट का निरंतर और सुचारू प्रवाह सुनिश्चित करता है. 25 केवी सप्लाई को फिर स्टेप डाउन किया जाता है और रेक्टिफाय करते हुए कर्षण मोटर्स में भेजा जाता है. रिटर्न करंट इंजन के पहियों के माध्यम से पटरी की ओर तथा पटरी से कर्षण ट्रांसफॉर्मर के अर्थेड टर्मिनल तक प्रवाहित होता है और इस प्रकार सिंगल फेज इलेक्ट्रिक सर्किट पूरा हो जाता है. जैसे-जैसे पटरियों को अर्थ किया जाता है, यह सुनिश्चित किया जाता है कि रिटर्न करंट का पोटेन्शल अर्थ पोटेन्शल से अधिक न हो. इससे यह सुनिश्चित होता है कि विद्युतीकृत रेलपथ के संपर्क में आने वाले लोगों के लिए कोई विद्युत जोखिम नहीं है. इंजन की गति में भिन्नता कर्षण मोटर्स में इनपुट वोल्टेज परिवर्तन द्वारा हासिल की जाती है.



  तकनीकी सुधार 


एससीएडीए की प्रमुख विशेषताएं